Advertisement

हिन्दी व्याकरण प्रश्न उत्तर देखे |Hindi Vyakaran mock test in hindi

Hindi Grammar MCQ : बिहार सरकार के द्वारा इस वर्ष शिक्षक पात्रता की परीक्षा का आयोजन BPSC कर रही है | इस परीक्षा के BPSC Bihar Teacher Syllabus जारी कर दिए गए है | अगर आप Bihar Teacher Recruitment exam की तैयारी कर रहे है तो आपको 75 अंको की हिन्दी भाषा अनिवार्य कर दी गयी है |आप अपने Bihar Teacher Recruitment Exam 2024 में अच्छे मार्क लाने के लिए इस लेख को जरुर पढ़े| शिक्षक पात्रता परीक्षा जैसे की – CTET, UPTET, HPTET, PSTET,BPSC TET ,MPTET ,etc में इससे सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते हैं | Hindi Mock Test से अच्छे अंक प्राप्त कर सकते है |

Advertisement

अब BPSC के द्वारा जल्द ही बहाली निकाली जा रही है और आपका Bahali BPSC Teacher के रूप में किया जायेगा | आप हमारे अन्य लेख से GK & GS और Important Question Paper & Notes , Bihar special GK देखे सकते है और आप अपने BPSC Teacher exam में अच्छे मार्क प्राप्त कर सकते है |आप को यह Hindi mcq for competitive exams कैसा लगा यह आप कमेंट कर जरुर बाए और इसे अपने दोस्तों में जो भी All State Level Exams की तयारी कर रहे है उनसे शेयर जरुर करे |

hindi grammar mcq

हिंदी व्याकरण प्रश्नोत्तर | Hindi Vyakaran For BPSC TRE | Hindi Vyakaran quiz for BPSC Teacher Exam

निर्देश : निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गये प्रश्नों (प्रश्न संख्या Q1 से Q5 तक) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए।

यदि आज भारतीय मनीषा इतिहास और अतीत के दो मृत खंडों में विभाजित दिखाई देती है तो हमें इसका कारण सीधा पश्चिम के उस अहं-केन्द्रित इतिहास-बोध में दिखाई देगा जिसके पिछले दो सौ वर्षों में भारतीय मनुष्य को उसके अतीत और परंपरा से उन्मूलित किया है, कितना बड़ा व्यंग्य है कि जिन यूरोपीय इतिहासकारों और पुरातत्त्व के पंडितों ने अपने अनुवादों, खोजों और खुदाइयों से भारतवासी को अपनी विशिष्ट परंपरा से परिचित कराया उसी सभ्यता ने उस सामाजिक संरचना के तन्तु-जाल को भी नष्ट किया, जिसमें मनुष्य अपनी परंपरा में साँस लेता था, अपने पावन अतीत को अपने वर्तमान में जीता था। किसी जाति के मिथक और विश्वास उनकी जीवन-प्रणाली उसके आत्मीय संसार से जुड़कर ही जीवंत हो पाते हैं, एक की अभिव्यक्ति दूसरे के द्वारा होती है। मनुष्य जीने की प्रक्रिया में अपने विश्वासों को उद्घाटित करता है, उन विश्वासों के द्वारा जीने की प्रणाली मर्यादित करता है, ऐसी संस्कृति में इतिहास का समय एक अक्षुण्ण धागे से परम्परा के कालातीत बोध से जुड़ा होता है। मनुष्य एक साथ दो काल-प्रदेशों में जीता है और ये दोनों एक-दूसरे से अलग नहीं हैं, एक-दूसरे के समानान्तर भी नहीं हैं- दोनों एकदूसरे से उलझे हैं, इस उलझाव में ही एक जाति की आत्मा अपना आकार ग्रहण करती है। पश्चिम के इतिहास-बोध ने इस ‘आत्मा’ के तन्तु-जाल को छिन्न-भिन्न कर दिया, उसे दो फाँकों में खंडित कर दिया। मनुष्य का मिथक संसार और उसकी जीवन प्रणाली दो मृत कटघरों में विभाजित हो गए। नायपाल ने भारतीय संस्कृति को ‘घायल संस्कृति’ माना है।

Advertisement

Q1. भारतीय मनीषा के विभाजित होने का मुख्य कारण क्या है?

(A) पश्चिम की पूर्व पर विजयी
(B) भारतीयों के भीतर विद्यमान हीनता बोध
(C) पश्चिम के अहंकेन्द्रित इतिहास-बोध का वर्चस्व
(D) परंपरा से अलगाव

उत्तर : – (C)

Q2. मिथक का महत्व है :

(A) मानव जाति के बोध का हिस्सा बने रहने में
(B) अपने भीतर उपस्थित अर्थ को विकसित करते रहने में
(C) मानव जाति के ज्ञान को विकसित करते रहने में
(D) संबंधित जाति के आत्मीय संसार को जीवित रखने में

उत्तर : – (D)

Q3. नायपाल ने भारतीय संस्कृति को ‘घायल संस्कृति’ क्यों कहा?

(A) पश्चिमी इतिहास बोध के प्रभाव में अपनी परंपरा से कट जाने के कारण
(B) पराजय बोध के कारण
(C) मिथकों और विश्वासों की अवहेलना के कारण
(D) उपर्युक्त में से कोई नहीं

उत्तर : – (A)

Q4. पश्चिमी इतिहास बोध की मुख्य समस्या क्या है?

(A) उसमें भौतिकता के प्रति अतिरंजित आकर्षण है।
(B) वह पश्चिमी जीवन बोध तक सीमित है।
(C) वह वायवीय है।
(D) उसने मनुष्य के मन को छिन्न-भिन्न कर दिया है।

उत्तर : – (B)

Q5. भारतीय चिंतन की विशेषता नहीं है :

(A) मिथकों का जीवन का अभिन्न अंग होना
(B) स्व-केन्द्रित इतिहास बोध
(C) अपने पावन अतीत को वर्तमान में जीना
(D) परम्परा के कालातीत बोध से जुड़ा होना

उत्तर : – (B)

Q. इनमें कौन-सी रचना ब्रजभाषा में रचित है?

(A) बरवै रामायण
(B) पार्वती मंगल
(C) रामलला नहए
(D) वैराग्य संदीपनी

उत्तर : – (D)

निर्देश : निम्नलिखित पद्यांश को पढ़कर पूछे गये प्रश्नों (प्रश्न संख्या Q6 से Q10 तक) के सर्वाधिक उचित उत्तर वाले विकल्प का चयन कीजिए।

काहे को रोकत मारग सूधो?
सुनहु मधुप ! निर्गुन-कंटक तें राजपंथ क्यों सँधो?
कै तुम सिखै पठाए कुब्जा, कैकही स्यामघन जू धौ?
बेद पुरान सुमृति सब ढूँढौ दौ जुवतिन जोग कहूँ धौ?
ताको कहा परेखो कीजै जानत छाछ न दूधौ।
सूर मूर अक्रूर गए लै ब्याज निवेरत ऊधौ।

Q6. गोपियों ने राजपंथ किसे कहा है?

(A) निर्गुणोपासना
(B) सगुणोपासना
(C) वैदिक मार्ग
(D) सूफी मार्ग

उत्तर : – (B)

Q7. ‘सुनहु मधुप निर्गुन-कंटक तें राजपंथ क्यों रूधो?’

Advertisement

पंक्ति में कौन-सा अलंकार है?

(A) रूपक
(B) उत्प्रेक्षा
(C) उपमा
(D) विभावना

उत्तर : – (A)

Q8. उपर्युक्त पद में गोपियों का कुब्जा के प्रति कैसा भाव है?

(A) घृणा
(B) उपेक्षा
(C) असूया
(D) तिरस्कार

उत्तर : – (C)

Q9. गोपियों से ब्याज कौन वसूल रहा है?

(A) कृष्ण
(B) कुब्जा
(C) अक्रूर
(D) उद्धव

उत्तर : – (D)

यह भी पढ़े :-

Q10. गोपियों को निर्गुण-मार्ग क्यों पसंद नहीं है?

(A) वेद और पुराण में निर्गुण-मार्ग का उल्लेख नहीं है।
(B) निर्गुण-पंथ ईश्वर प्राप्ति की मार्ग में बाधा बनता है।
(C) निर्गुण-पंथ कृष्ण प्रेम से गोपियों को विमुख करता है।
(D) निर्गुण-पंथ उद्धव और कुब्जा को पसंद है।

उत्तर : – (C)

Q. मातृभाषा-शिक्षण का उद्देश्य नहीं है-

(A) वैज्ञानिक चेतना का विकास
(B) भाषिक तत्वों का ज्ञान
(C) भावों एवं विचारों की अभिव्यक्ति
(D) वचन कार्यों के विभिन्न रूपों का ज्ञान

उत्तर : – (A)

Q. निम्नलिखित में से कौन मातृभाषा-शिक्षण की पद्धति नहीं है?

(A) किंडरगार्टन पद्धति
(B) माँटेसरी पद्धति
(C) डाल्टन पद्धति
(D) चॉम्स्की पद्धति

उत्तर : – (D)

Q. गद्य शिक्षण करते समय छात्रों के शब्द भण्डार में वृद्धि पाठ योजना के किस सोपान के अंतर्गत की जाती है?

(A) वाचन मुद्रा
(B) आत्मीकरण
(C) विचार-निर्माण
(D) उत्प्रेरणात्मक उपक्रम

उत्तर : – (B)

Q. ‘पश्चिमी हिन्दी’ की बोली नहीं है-

(A) कौरवी
(B) अवधी
(C) ब्रजभाषा
(D) बुंदेली

उत्तर : – (B)

Q. निम्नलिखित में से कौन से वाक्य में उपादान लक्षणा है?

(A) लालपगड़ी के आते ही वह नौ दो ग्यारह हो गया।
(B) वह पढ़ाने में बहुत कुशल है।
(C) मुख चंद्र है।
(D) तुम्हारे मुँह से मूर्खता झलकती है।

उत्तर : – (A)

Q. ‘सून्य भित्ति पर चित्र, रंग नहि, तनु-बिनु लिखा चितेरे’ वाक्य में कौन सा अलंकार है?

Advertisement

(A) विरोधाभास
(B) विशेषोक्ति
(C) असंगति
(D) विभावना

उत्तर : – (D)

Q. किस समास में ‘दोनों शब्दों की प्रधानता एक समान’ होती है?

(A) बहुव्रीहि समास
(B) कर्मधारय समास
(C) द्वंद्व समास
(D) तत्पुरुष समास

उत्तर : – (C)

Q. ‘सृष्टि दृष्टि के अंजन रंजन, ताप विभंजन, बरसो।

व्यग्र उदग्र जगज्जननी के, अभि अग्रस्तन, बरसो।’

उपर्युक्त काव्य-पंक्ति में कौन-सा काव्य दोष है?

(A) ग्राम्यत्व
(B) निरर्थकत्व
(C) अपुष्टत्व
(D) श्रुतिकटुत्व

उत्तर : – (D)

Q. अवधि शिला का उर पर था गुरूभार।

तिल तिल काट रही थी दृग जलधार।

काव्य पंक्ति में कौन-सा छंद है?

(A) दोहा
(B) सोरठा
(C) बरवै
(D) उल्लाला

उत्तर : – (C)

Q. ‘मनोगत भाव को व्यक्त करने वाली शारीरिक चेष्टाएँ’ कहलाती हैं :

(A) आलंबन विभाव
(B) उद्दीपन विभाव
(C) संचारी भाव
(D) अनुभाव

उत्तर : – (D)

Q. ‘व्याकरण’ शब्द की सही व्युत्पत्ति है :

(A) वि + आ + कृ + ल्युट
(B) व्य + आ + करण
(C) व्य + आ + कृ + लटु
(D) वि + आङ्ग + करण

उत्तर : – (A)

Q. ‘र’ वर्ण है :

(A) मूर्धन्य, महाप्राण, सघोष, उष्म
(B) मूर्द्धन्य, अल्पप्राण, सघोष, अन्तःस्थ
(C) तालव्य, अल्पप्राण, अघोष, अन्तःस्थ
(D) तालव्य, महाप्राण, सघोष, स्पर्श

उत्तर : – (B)

👉🏿सामान्य अध्ययन के अति महत्वपूर्ण प्रश्न -उत्तर | Most Important Questions and Answers on General Studies

Q. हिन्दी शिक्षण में उच्चारण संबंधी अशुद्धियों का मुख्य कारण निम्न में से कौन है?

(A) वर्ण के उच्चारण का सही ज्ञान न होना
(B) सटीक उच्चारण का अभ्यास न होना
(C) स्थानीय बोलियों का प्रभाव
(D) उपर्युक्त सभी

Advertisement

उत्तर : – (D)

Q. निम्नांकित में से कौन निबंध-शिक्षण का उद्देश्य नहीं है?

(A) भाषित तत्वों का ज्ञान
(B) भावों और विचारों को ग्रहण करना
(C) जीवन-मूल्य का बोध प्राप्त करना
(D) मार्मिक एवं लालित्यपूर्ण स्थलों की पहचान

उत्तर : – (D)

Q. ‘जो बायें हाथ से भी काम कर लेता हो’ उसके लिए सटीक शब्द है :

(A) वामपंथी
(B) वाममार्गी
(C) सव्यसाची
(D) कापालिक

उत्तर : – (C)

Q. निम्नलिखित में से कौन-सा शब्द ‘शेर’ का पर्यायवाची नहीं है?

Advertisement

(A) नाहर
(B) कुंजर
(C) केशरी
(D) केहरि

उत्तर : – (B)

Q. ‘त्रिचत्वारिंशत’ का तदभव रूप है :

(A) तैंतालीस
(B) तैंतीस
(C) इकतालीस
(D) उन्तालीस

उत्तर : – (A)

Q. ‘इतनी सी जान, गज भर की जबान’, मुहावरे का क्या तात्पर्य है?

(A) औकात से बाहर जाकर दावा करना
(B) अपनी उम्र के हिसाब से बहुत बोलना
(C) उम्र कम और बुद्धि अधिक
(D) ज्यादा बोलना अच्छा नहीं होता

उत्तर : – (B)

Q. भाषा-अर्जन के सन्दर्भ में कौन-सा कथन सही नहीं है?

(A) भाषा-अर्जन में विभिन्न संकल्पनाएँ मातृभाषा में बनती हैं।
(B) भाषा-अर्जन अनुकरण द्वारा होता है।
(C) भाषा-अर्जन असहज और अस्वाभाविक नहीं होता है।
(D) सांस्कृतिक भिन्नता भाषा-अर्जन को प्रभावित नहीं करती है।

उत्तर : – (D)

हमें उम्मीद है आपको यह Hindi Grammar MCQs in Hindi आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा जिसके लिए आप हमारे इस आर्टिकल को लाईक, शेयर व कमेंट  करेगे।यहाँ आप हिंदी व्याकरण mcq की अच्छी तयारी कर पायेगे |आप BPSC Teacher Syllabus के सम्पूर्ण विषय को हमारे अन्य पोस्ट के माध्यम से जान पाएंगे |

कृपया शेयर जरुर करें -